प्रशासन की उदासीनता का दंश झेल रहा अटल आवास,निर्माण के सालों बाद भी हितग्राहियों को नही मिल पायी मूलभूत सुविधाएं,नदी में लगातार मिट्टी कटाव होने से कभी भी गिर सकता है आवास,अधिकारी और जनप्रतिनिधियों का उदासीन रवैया

मुंगेली/अटल आवास सुरदा में आगर नदी में पीचिंग नहीं होने के चलते नदी का कटाव मकानों की ओर बढ़ता जा रहा है। उस पर ग्रामवासी चूल्हा बनाने,घर छबाई करने के लिए मिटटी खोदकर ले जा रहे हैं जिससे निर्मित मकान खतरे में आते जा रहे हैं। मिट्टी खुदाई पर रोक लगाकर यदि शीघ्र पीचिंग नहीं कराया गया तो कटाव बढ़ने से अगली बरसात में गिर सकते हैं मकान ।
गौरतलब हो कि शासन की अटल आवास योजना के तहत मुंगेली के सुरदा ग्राम में 2007-8 में अटल आवास का मकान बनना प्रारंभ हुआ था । काफी मशक्कत के बाद बने मकानों के आबंटन कर हितग्राहियों को सौप दिया गया है परंतु अटल आवास सुरदा में 12-13 वर्ष बाद भी पक्की सड़क,पेयजल हेतु पाइप लाइन उपलब्ध नहीं है दूसरी ओर बिजली हेतु ट्रांसफार्मर व केबल जले हुए स्थिति में कई वर्षों से पड़े हैं। इसके बावजुद कुछ हितग्राही मजबूरी में अपने जुगाड़ से रहने लगे हैं,अन्य भी शिफ्ट होना चाहते हैं पर आधारभूत सुविधाओं के आभाव में हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं।
आवास के पीछे ही आगर नदी बहती है अतः हर बरसात में कटाव बढ़ना लाजमी है उसपर ग्रामीणों की मिट्टी खुदाई से खतरा और बढ़ता जा रहा है। क्षेत्र के जनप्रतिनिधि सांसद,विधायक व कलेक्टर आदि पीचिंग हेतु ध्यान नहीं दिए तो मकानें कभी भी गिर सकते हैं।