छत्तीसगढ़ के 20 हजार से ज्यादा विद्यार्थी इस वजह से बोर्ड एग्जाम से हो सकते हैं बाहर

रायपुर/प्रदेश में 10वीं और 12 वीं बोर्ड की परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों के लिए बड़ी खबर आ रही है। बोर्ड परीक्षा देने की तैयारी कर रहे, 10वीं और 12वीं के छात्रों की आकलन रिपोर्ट व प्रायोगिक परीक्षाओं के नंबर अब तक माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) के पोर्टल में स्कूलों के जिम्मेदारों ने अपलोड नहीं किए है। स्कूल प्रबंधन की इस लापरवाही से लगभग 20 हजार छात्राओं की जानकारी माशिमं पोर्टल में मिसिंग हैं।

स्कूल के जिम्मेदारों को लगाई फटकार

छात्रों आकलन और प्रायोगिक परीक्षा संबंधी जानकारी माशिमं को उपलब्ध हो सके, इसलिए माशिमं सचिव ने जिला शिक्षा अधिकारियों को मामलें में सख्ती करने और जल्द से जल्द जानकारी अपलोड कराने का निर्देश दिया है। माशिमं सचिव ने मामलें में लापरवाह स्कूल के जिम्मेदारों को फटकार लगाई है और दोबारा गलती ना दोहराने का निर्देश जारी किया है।

परीक्षा से वंचित हो सकते है छात्र

माशिमं के जानकारों की मानें तो जिन छात्रों की आकलन रिपोर्ट और प्रायेागिक परीक्षाओं के नंबर माशिमं पोर्टल में अपलोड नहीं होंगे। उन छात्रों को अनुपस्थित माना जाएगा। इस स्थिति में छात्र बोर्ड की परीक्षा नहीं दे सकेंगे। स्कूल के जिम्मेदारों की लापरवाही से छात्रों का भविष्य बर्बाद ना हो, इसलिए माशिमं सचिव ने मामलें में सावधानी बरतने और जल्द से जल्द आकलन व प्रायोगिक परीक्षा की रिपोर्ट सबमिट करने का निर्देश दिया है।

हर माह रिपोर्ट सबमिट करना जरूरी

माशिमं के जानकारों की मानें तो जिन छात्रों की तीन आकलन रिपोर्ट व प्रायोगिक परीक्षाओं का नंबर पोर्टल में अपलोड होगा, वे परीक्षा देने के लिए अप्लीकेबल होंगे। कोरोना के मद्देनजर विभागीय अधिकारियों ने परीक्षार्थियों के लिए यह तरीका तय किया है। इन रिपोटर््स के आधार पर ही छात्रों को उपस्थित और अनुपस्थित माना जा रहा है। आकलन रिपोर्ट हर माह सबमिट करनी है। प्रदेश के कुछ स्कूलों ने जनवरी माह की रिपोर्ट भी अब तक सबमिट नहीं की है।