STATE TODAY|छत्तीसगढ़ में जैन साधु साध्वीयों को चातुर्मास स्थल तक पैदल विहार पर आवश्यक दिशा निर्देश

संजू.जैन
बेमेतरा:छत्तीसगढ़ शासन सामान्य प्रशासन विभाग मंत्रालय अटल नगर रायपुर के उप सचिव पत्र क्रमांक 123/उस/राशिअ/2021 नवा रायपुर,अटल नगर, दिनाक 01/06/2021 के निर्देशानुसार जैन समाज का आगामी चातुर्मास 23 जुलाई 2021 से प्रारंभ हो रहा है। जिसमें छत्तीसगढ़ राज्य एवं अन्य राज्यों से जैन समाज के साधु संत साध्वी एवं उनके सेवादार अपने – अपने गंतव्य से पैदल विहार करते हुए राजधानी पहुंचेंगे। अत एव राज्य की सभी सीमाओं में पहुंचने वाले माननीय संत गणों को सुविधा प्रदान करने हेतु जिला प्रशासन को दिशा निर्देश प्रदान किए जाने का आग्रह किया गया है।

वर्तमान में राज्य में कोरोना महामारी के दृष्टिगत पूर्ण एवं आंशिक लॉकडाउन की स्थिति निर्मित है । परंतु चतुर्मास प्रारंभ होने के कारण जैन समाज के माननीय साधु संत एवं साध्वीगणों का छत्तीसगढ़ राज्य एवं अन्य राज्यों से माह जून-जुलाई मेंआवागमन बना रहेगा।

निर्देशानुसार माननीय संतगणों को उनके आवागमन पर यथोचित आवश्यक सुविधा सुनिश्चित किया जाना है । अत एव कार्यक्रम संयोजक द्वारा उक्त संदर्भ में सहयोग की अपेक्षा किए जाने पर कोविड-19 के संदर्भ में शासन द्वारा जारी गाइड लाइन का परिपालन कराते हुए माननीय जैन संतगणों के बिहार पर आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराए जाने का कष्ट करेंगे।

अल्पसंख्यक आयोग की पहल पर चातुर्मास में जैन साधु-साध्वियों के पैदल विहार में सुरक्षा के शासन ने जारी किए निर्देश

छत्तीसगढ़ शासन सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा आज सभी जिलों के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षकों को जैन साधु-साध्वियों को चातुर्मास स्थल तक जून जुलाई माह के पैदल विहार में आवश्यक सहयोग एवं सुरक्षा देने के लिए निर्देश जारी किए हैं।
ज्ञात को की जैन समाज मे चातुर्मास का विशेष महत्त्व है जो इस वर्ष 23 जुलाई से प्रारंभ हो रहा है, वर्तमान में कोरोना की वजह से आंशिक लॉकडाउन की स्थिति निर्मित है जिसके चलते अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष महेंद्र सिंह छाबड़ा ने चातुर्मास का उल्लेख करते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर जैन साधु साध्वियों के लिए विहार में आवश्यक सहयोग देने का अनुरोध किया था जिसपर शासन ने यह आदेश जारी किया है