STATE TODAY|जिला अस्पताल एवं जिले के अन्य कोविड अस्पतालों में व्याप्त अव्यवस्था के संदर्भ में जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सागर सिंह बैस ने कलेक्टर को लिखा पत्र

बेडो की स्थिति का जिला अस्पताल एवं निजी अस्पताल में बाहर बोर्ड या अन्य माध्यमों से जानकारी दिये जाने की बात कहे:जिलाध्यक्ष कांग्रेस सागर सिंह बैस

जितेंद्र पाठक

मुंगेली/जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सागर सिंह बैस के द्वारा मुॅगेली कलेक्टर का पत्र के माध्यम से जिला अस्पताल मुॅगेली व अन्य कोविड अस्पताल की अव्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दिये गौरतलब है पुरे छत्तीसगढ़ में कोविड 19 का प्रकोप एक बार भी बढ़ता जा रहा है इन परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए जहाॅ छत्तीसगढ़ सरकार भुपेश बघेल के द्वारा हर संभव मदद के लिए लगातार प्रयास कर रही है मुख्यमंत्री के द्वारा हर घटनाओं पर नजर बनाये हुए है किंतु मुॅगेली जिले के जिला अस्पताल एवं निजी अस्पताल जहाॅ कोविड सेंटर बनाये गये है वहाॅ कुछ कमियाॅ सामने आ रही है पत्र के माध्यम से जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सागर सिंह बैस ने सुझाव दिये कि जिला अस्पताल में आक्सीजनेटेड बेड एवं सामान्य बेड की क्या स्थिति है कितने खाली है, कितने भरे है अलग-अलग समय में इनकी क्या स्थिति है इसका पता नहीं चल पाता है जिसके लिए हर तीन धण्टे में बेड की क्या स्थिति है इसके लिए जिला अस्पताल के बाहर बोर्ड लगाकर स्थिति स्पष्ट की जाये,ठीक इसी तरह निजी अस्पतालों के भी आक्सीजन बेड,सामान्य बेड,वेंटिलेटर बेड की स्थिति तीन धण्टे में बोर्ड लगाकर या फिर अन्य माध्यमों से स्पष्ट किया जाये। निजी अस्पतालों की बात सामने आ रही है कि जिसमें खाली बेड के संबंध में गलत जानकारी दे रहे है एवं मनमाना राशि वसुल कर रहे है ऐसे अस्पतालों के खिलाफ तत्काल कार्यवाही किया जाये। रेमिडेसिवर इंजेक्शन की उपलब्धता के संबंध में जिला अस्पताल एवं निजी अस्पताल के द्वारा जानकारी दी जा रही है अतः इसके लिए निवेदन करते है कि इस संबंध में निर्देश दे कि उक्त इंजेक्शन कितनी संख्या में उपलब्ध है जिसकी स्पष्ट जानकारी लिखित में चस्पा किया जाये। कोरोना जाॅच के लिए अस्पतालों में लंबी लाईन लग रही है धुप में लोगो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है जिसके लिए मुॅगेली शहर के सिटी डिस्पेंसरी में भी एक जाॅच केन्द्र खोला जाये ताकि लोगों को सुविधाजनक तरीके से परीक्षण करा सके। पत्र के माध्यम से उचित सुझावों को गंभीरता से विचार करते हुए जल्द से जल्द उचित पहल करने की बात कहे ताकि लोगों को परेशानियों का सामना ना करना पड़े।