STATE TODAY|कोरोनाकाल के चलते जीवकोपार्जन में आ रही कठिनाइयों को लेकर डीजे संघ ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन,पीसीसी सचिव और कलेक्टर ने समस्याओं का जल्द निराकरण करने दिलाया भरोषा

मुंगेली/ कोरोना महामारी ने लगभग सभी का बजट बिगाड़ दिया,परंतु इसमें सबसे ज्यादा प्रभावितों में रोज कमाने खाने वाले और गरीब,मध्यम वर्ग बहुत ही प्रभावित हुआ है। मुंगेली में डीजे साउंड वालों ने भी अपनी समस्याओं को लेकर कलेक्टर को ज्ञापन दिया हैं। ज्ञापन में कहा गया कि कोरोना महामारी के चलते पिछले वर्ष से डी. जे. साउंड परिवार शासन प्रशासन की गाइड लाइन का पालन किया हैं,जिसके वजह से उनके सामने रोजी रोटी की समस्या उत्पन्न हो गई है, चूंकि मार्च से जून तक का समय शादी ब्याह की रहता है,और यही समय हैं जब हम अपने व्यवसाय के माध्यम से घर का भरण-पोषण कर सकते है, परंतु लॉकडाउन में हमारा व्यवस्था पूरी तरह से प्रभावित है। जिसकी वजह वे सभी बेरोजगार हो गये है, उनके परिवार के भरण पोषण हेतु आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण सभी साउंड व्यवसायी, बैंक लोन, होम लोन, गाड़ी फायनेंस एवं ग्राहक की एडवांस की राशि वापस करने,दूकान किराया जैसी परेशानियों से जूझ रहे है।

ज्ञापन में डीजे संगठन की ओर से 07 सूत्रीय मांगे की गई हैं जो इस प्रकार हैं –
1. बैंक लोन की ब्याज की राशि माफ किया जाए।

2 होम लोन की राशि में कटौती किया जाना चाहिये।

3. वाहनों की किश्त में ब्याज की राशि माफ हो।

4. बच्चों की की स्कूल फीस माफ किया जाए।

5 बिजली बिल माफ हो।

6. डी.जे. साउंड बैंड धुमाल की दूकान किराया की राशि माफ हो। आर्थिक मदद हेतु 5-10 लाख रु प्रदान किया जाए

7. कोरोना महामारी में हम शासन प्रशासन के साथ थे और रहेंगे व पूरे प्रदेश में हमने डी.जे साउंड ने एक भी नियम नहीं तोड़ और ना ही तोड़ेगे।
शासन प्रशासन के निवेदन है कि पूरे जिले में डी.जे. साउंड लाईट, बैंड धुमाल परिवार को उपरोक्त छूट दिया जाए।
अतः शासन प्रशासन से निवेदन है कि हमें शीघ्र 5-10 लाख रूपये की
मुआवजा की राशि प्रदान करने की कृपा करे। उक्त मांगों पर पीसीसी सचिव हेमेंद्र गोस्वामी ने कहा कि डीजे संघ वालों की समस्याओं को सरकार के समक्ष रख उन्हें राहत देने चर्चा की जाएगी,साथ ही हेमेंद्र गोस्वामी ने कलेक्टर पी एस एल्मा से इस विषय में चर्चा भी की गई जिसमें कलेक्टर की ओर से आश्वासन दिया गया हैं।