अपने डाॅगी को घुमाने निकली, इधर बाॅयफ्रेंड ने घर पर कर दिया मां-बाप का कत्ल,बेटी ने पिता पर लगाए गंभीर आरोप

मध्यप्रदेश

इंदौर: रूकमणी नगर में हुए चर्चित डबल मर्डर केस में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। एसएएफ में ड्राइवर ज्योति प्रसाद शर्मा और उनकी पत्नी नीलम की हत्या उसके ही नाबालिग बेटी और बाॅयफ्रेंड ने साजिश रच कर की थी। पुलिस ने दोनों को रतलाम के पास पकड़ लिया है। मृतकों की बेटी महज 17 साल की है और उसका बाॅयफ्रेंड धनजंय यादव ने हत्या में धारदार हथियार का इस्तेमाल किया था।

दरअसल सुबह 5 बजे बेटी अपने कुत्ते को घर के आगे टहला रही थी। इस दौरान जब घर से चीखांे की आवाज आई तो दादा-दादी और पड़ोसी आए और पूछने पर बेटी ने जवाब दिया कि नशे में पापा मम्मी से लड़ाई कर रहे हैं। यह सुनकर सभी चले गए। सुबह 8 बजे जब दादा-दादी के साथ सो रहे बेटे ने खिड़की से देखा तो उसे अपने मम्मी-पापा की खून से सनी लाश दिखाई दी। दरवाजा तोड़कर जब देखा गया तो दोनों के शव चादर में लिपटे हुए थे।

आरोपी धनंजय शर्मा गांधीनगर के पूर्व उपसरपंच का बेटा है। कुछ दिनों पहले ही ज्योति प्रसाद शर्मा ने उसे चांटा मारा था, जिसके बाद धनंजय ने उन्हें धमकी दी थी। हत्या की प्लानिंग पहले से हो गयी थी। जिसके लिए घर में सीसीटीवी को बंद कर दिया गया था। हत्या के बाद बेटी ने अपना मोबाइल भी बंद कर दिया था। जांच के दौरान पुलिस को घर में एक खत मिला, जो उसकी अपनी बेटी ने लिखा था। बेटी ने बताया था कि उसके पापा उसका उसका शारीरिक शोषण करते हैं।

यही नहीं बेटी ने खत में यह भी लिखा था कि इन सभी में मम्मी भी पापा का ही साथ देती है। इन सब से परेशान होकर वह घर छोड़कर जा रही है और उसे ढूंढने की कोशिश न की जाए। पुलिस को इस बाबत शक हुआ और जांच भटकाने के लिए जो खत लिखा गया था। पुलिस ने उन्हें ढूंढकर पकड़ लिया है।