STATE TODAY|आईटीआई सारधा 100 बिस्तर कोविड केयर सेंटर से 2 मरीज हुए डिस्चार्ज,

जितेन्द्र पाठक

मुंगेली/लोरमी – कोरोना की जंग से जीतकर दो संक्रमित मरीज सोमवार को ठीक होकर अपने घर चले गये। गौरतलब है कि एक ओर जहाॅ मुॅगेली जिला के लोरमी में प्रतिदिन कोरोना संक्रमित निकल रहे है वही आज सुखद बात यही की कोविड केयर सेंटर में भारती राजपुत और कृष्णा जायसवाल ठीक होकर अपने घर चले गये बताया गया है कि 28 अप्रैल को इन्हे लेकर उस समय बुखार,सर्दी व सांस लेने में दिक्कत आ रही थी समय में कोविड सेंटर पहुॅच जाने से इनका ईलाज तत्काल प्रारंभ कर दिया गया लोरमी के युवा चिकित्सक डाॅ देवेश राजपुत, डाॅ परमेश्वर कश्यप के अथक प्रयासों से सुखद परिणाम आना प्रारंभ हो गये जिसके कारण दोनों जल्द स्वस्थ हो गये वही डिस्चार्ज किये मरीजों को मास्क लगाने,सोशल डिस्टेंश का पालन करते हुए कोविड 19 के निमयों का पालन करते हुए,स्वस्थ होने के विभिन्न जानकारी भी दिये। लोरमी क्षेत्र के लिए 20 आक्सीजन सिलेण्डर के साथ 100 बिस्तर की यह कोविड केयर सेंटर कोरोना मरीजों के लिए जीवन दायिनी साबित हो रही है। बीएमओ डाॅ जी एस दाउ ने बताया कि अभी 16 मरीज है जिनमे से 10 मरीज आक्सीजन से बाहर आ चुॅके है और 2 मरीज को डिस्चार्ज किया गया है बाकी अन्य मरीज जल्द स्वस्थ हो जायेगे। डाॅ दाउ ने बताया कि अगर मरीज को सांस की तकलीफ होना चालु होता है और वे जल्द भर्ती हो जाते है तो उसकी जान बचाई जा सकती है एक मरीज को एक दिन में 3 से 4 बड़े आक्सीजन सिलेण्डर की आवश्यक्ता पड़ती है उस हिसाब से 5 से 7 मरीजों को ही एक बार में आक्सीजन की व्यवस्था कर पा रहे है 5 से 10 दिन तक मरीजों को लगातार आक्सीजन देने पर मरीज सामान्य हो पाते है इसी अनुपात से कोविड केयर सेंटर के लिए बड़े सिलेण्डर की और आवश्यक्ता है जिससे हम ज्यादा लोगो की जान बचा सकें। एसडीएम लोरमी सीसी ठाकुर के संरक्षण में कोविड केयर सेंटर का संचालन किया जा रहा है। कोविड अस्पताल में श्रवण लांझिवार,कु. ऋतु प्रकाश, अरूणा लहरे,टिकेश चंद्राकर,सविता जगत,जयंती राठौर स्वास्थ विभाग सहित अन्य स्टाफ के साथ आयुर्वेद विभाग के कर्मचारी का भी सहयोग लिया जा रहा है।
————————————————————