केंद्र सरकार के किसान विरोधी कानून के खिलाफ किसानों ने किया चक्काजाम,राष्ट्रपति के नाम जिला प्रशासन को सौपा ज्ञापन,भारी संख्या में किसान रहे मौजूद

मुंगेली/केंद्र सरकार के द्वारा बनाये किसान कानून के विरोध में देशव्यापी आंदोलन के तहत आज मुंगेली जिला मुख्यालय में भी किसानों ने इस कानून का विरोध जताया भारतीय किसान यूनियन लोकशक्ति के द्वारा जिला कलेक्ट्रेट के पास एकत्रित होकर बिलासपुर-मुंगेली मुख्यमार्ग में बैठकर विरोध जताते हुए चक्काजाम करते हुए केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गयी साथ ही देश के राष्ट्रपति के नाम कलेक्टर को ज्ञापन को जिला प्रशासन की ओर से तहसीलदार अमित सिन्हा को सौपा गया।सौपे गए ज्ञापन में केंद्र सरकार के द्वारा बनाये गए तीनो कानूनों को वापस लिए जाने तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य को लागू किये जाने की मांग की गयी है इस दौरान पत्रकरो से चर्चा करते हुए भारतीय किसान यूनियन लोकशक्ति के प्रदेश सचिव राकेश तिवारी ने बताया कि एक तरफ तो देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आत्मनिर्भर भारत की बात करते है तो वही केंद्र सरकार द्वारा ऐसे कानून बनाये हैं जिसके लागू होते ही देश के किसानों की आत्मनिर्भरता खत्म हो जाएगी उन्होंने बताया कि पहले जब देश गुलाम था उस समय अंग्रेजो के द्वारा नील की खेती करने के लिए किसानों पर दबाव बनाया जाता था जिसे पूरे देश मे विरोध करते हुए काला कानून बताया गया था आज केंद्र सरकार द्वारा भी इसी तरह के तीन किसान विरोधी कानून बनाया गया है जिससे सिर्फ उद्योगपतियों को ही लाभ पहुंचेगा और देश का किसान पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगा इस लिए इसे काला कानून बताया जा रहा है पूरे देश मे जिस तरह से इस कानून को वापस लेने के लिए विरोध किया जा रहा है उसी के समर्थन में हमारे द्वारा भी जिला मुख्यालय में प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा गया है वही किसानों के आंदोलन को देखते हुए जिला पुलिस विभाग के द्वारा भारी मात्रा में पुलिसबल तैनात किया गया था इस दौरान राकेश तिवारी,प्रदेश सचिव भारतीय किसान यूनियन संघ लोकशक्ति,रघुराज सिंह श्रीनेत,जिलाध्यक्ष,राजेन्द्र यादव,अरुण कुलमित्र,सूरज यादव,शोभा कश्यप,तोरण खांडे सहित भारी संख्या में किसान साथी उपस्थिति रहे