राज्यपाल अनुसुईया उइके द्वारा बालको मेडिकल सेंटर में डायलिसिस मशीन का उद्घाटन,छत्तीसगढ़ राज्य में इतनी अच्छी कैंसर देखभाल लोगों को देने के लिए सराहा

रायपुर: छत्तीसगढ़ की माननीय राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उइके ने आज मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर बालका मेडिकल सेंटर में डायलिसिस मशीन का उद्घाटन किया, जो अस्पताल द्वरा प्रदान किए गए उपकरणों और सेवाओं की सूची में जुड़ी नवीनतम सुविधा है

मकर संक्रांति शुभ उत्तरायण काल की शुरुआत का प्रतीक है और इस पवित्र दिन पर, माननीय राज्यपाल ने कहा की उन्हें बालको मेडिकल सेंटर में जो सुविधाएं कैंसर के मरीजों को मिलती देखी, वह उन्होंने आसपास के दूसरे राज्यों में भी नहीं देखी। उन्होंने कहा की यहां उन्होंने मरीजों को देखा है जो कैंसर के अंतिम पड़ाव पर हैं और उनका इलाज भी संभव हो पा रहा है। माननीय राज्यपाल ने बालको मेडिकल सेंटर के प्रबंधकों को उनके द्वारा किये जाने वाले सामाजिक कार्यों और छत्तीसगढ़ राज्य में इतनी अच्छी कैंसर देखभाल लोगों को देने के लिए सराहा।

अपनी यात्रा के दौरान उन्होंने अस्पताल के अत्याधुनिक बुनियादी ढांचे और नैदानिक सुविधाओं की सराहना की और कहा कि बालको मेडिकल सेंटर वास्तव में छत्तीसगढ़ के वंचित समुदायों के लिए एक वरदान है, जो अब अपने राज्य में विश्व-स्तर क कैंसर के उपचार का लाभ उठा सकते हैं। माननीय राज्यपाल ने आधुनिक, व्यापक और उच्चगुणवत्ता वाली चिकित्सा देखभाल की सराहना की जो यह अस्पताल एक सस्ती कीमत पर प्रदान करता है। बाद में उन्होंने कैंसर से पीड़ित रोगियों और बच्चों के साथ बातचीत की जिनका इलाज आयुष्मानभारत और डॉक्टर खूबचंदबघेल स्वास्थ्य सहायता योजना जैसी विभिन्न सरकारी योजनाओं के तहत बालको मेडिकल सेंटर में किया जा रहा है। उन्होंने अस्पताल के कर्मचारियों के साथ भी बातचीत की, उनकी कड़ी मेहनत और समर्पण की सराहना की और उन्हें प्रोत्साहित किया कि वे हर दिन ऐसे ही दयालु देखभाल प्रदान करते रहें।

बालको मेडिकल सेंटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एस.वेंकटाकुमा ने कहा, इसअस्पताल को शुरू करने का उद्देश्य उन कैंसर रोगियों को डायलिसिस प्रदान करना है,जिन्हें किडनी की समस्या है ।बालको मेडिकल सेंटर हमेशा अपने मरीजों को एक छत के नीचे सर्वश्रेष्ठ सुविधाएं प्रदान करने का प्रयास करता रहा है।हमारे साथ काफी मरीजहैं, जो किडनी की जटिलताओं के साथ क्रोनिक डायबिटिकहैं, जिन्हें डायलिसिस की जरूरत है। इस सुविधा के जुड़ने से उनके समय और धन दोनों की बचत होगी। आखिरकार,नया रायपुरमेंलोग, जिन्हें नियमित रूप से डायलिसिस की आवश्यकता होती है और वर्तमान में इसका लाभ उठाने के लिए रायपुर की यात्राकर रहेहैं,वे भी इसे प्राप्त करने के लिए यहां आ सकते हैं। ”

वेंकटाकुमार ने माननीय राज्यपाल को छत्तीसगढ़ सरकार के साथ अस्पताल की साझेदारी के बारे में भी बताया कि की कैसे बालको मेडिकल सेंटरने एकप्रभावी कैंसर शिक्षा, रोकथाम और शीघ्र पहचान की मुहिम शुरू की है। उन्होंने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन और छत्तीसगढ़ सरकार के सहयोग से छत्तीसगढ़ के 12 जिलों में बीएमसी द्वारा संचालित कैंसर स्क्रीनिंग शिविरों की सफलताकी सराहना की।

बालको मेडिकल सेंटर,वेदांता मेडिकल रिसर्च फाउंडेशन, की छत्तीसगढ़ के नया रायपुर में स्थापित पहली प्रमुख पहलहै,जिसमें 170 बेड, अत्याधुनिक ऑन्कोलॉजी देखभाल सुविधाहै,जिसमें 50 से अधिक विशेषज्ञ चिकित्सक हैं। यह पूरे मध्य भारत में सबसे बड़ी और सबसे उन्नत ऑन्कोलॉजी सुविधा है। यह मानव जाति के लिए ज्ञात सबसे महत्वपूर्ण बीमारी का विश्वस्तरीय उपचार प्रदान करता है। वीएमआर फ का उद्देश्य भारत की आबादी तक आसानी से उचितऔर सस्ती कीमत परअल्ट्रा-मॉडर्न, मल्टी-मॉडेलिटीडायग्नोस्टिक और चिकित्सीय सुविधाएं लानाहै।वर्तमानमें, यह तेजी से भारत केऑन्कोलॉजी स्पेस में एक राष्ट्रीय लीडर के रूप में उभर रहाहै, जिसमें चिकित्सा, शल्यचिकित्सा, विकिरण, रक्तविज्ञान और उपशामक देखभाल शामिल है।