STATE TODAY|छ्ग कर्मचारियों के CPS खाते में 14% के बजाय मात्र 10% अंशदान ही,हो रहे NSDL में जमा जबकि भारत सरकार 2 वर्ष पूर्व ही दे रखी है यह व्यवस्था:छ्ग में भी 14%अंशदान जमा करने का हो तत्काल आदेश:छत्तीसगढ़ शालेय शिक्षक संघ

पुरानी पेंशन के लिए संघर्ष रहेगा जारी पर 14% अंशदायी जमा हो यह भी अधिकार है हमारी:दीपक वेंताल

मुंगेली/छत्तीसगढ़ शालेय शिक्षक संघ पुरानी पेंशन की मांग NOPRUF के राष्ट्रीय मंचो पर सदैव जोर शोर से उठाते आया है। 2004 के बाद से पूरे देश मे पुरानी पेंशन को समाप्त कर अंशदायी पेंशन योजना लागू कर दिया गया है,जिसके तहत कर्मचारी के वेतन का 10% हिस्सा और उतना ही राशि नियोक्ता की ओर से NSDL में CPS खातों में जमा की जाती है।2019 में केंद्र सरकार ने अधिसूचना जारी कर इस अंशदायी पेंशन योजना से कर्मचारी के वेतन से 10 प्रतिशत और नियोक्ता की ओर से देने वाली अंशदान को 14% कर दिया है ताकि उसके पेंशन खाते में पहले से ज्यादा राशि जमा हो, किंतु छत्तीसगढ़ में 2 वर्ष बीत जाने के बाद भी आज पर्यंत तक NSDL में 10% राशि ही जमा हो रही है। छत्तीसगढ़ शालेय शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे,प्रांतीय महासचिव धर्मेश शर्मा,जिलाध्यक्ष दीपक वेंताल ने मांग की है कि छ्ग शासन भी शिक्षकों सहित समस्त कर्मचारियों के प्रान खाते में 14% राशि जमा करने हेतु तत्काल आदेश जारी करे।

जिला महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष पुनिता मिश्रा,जिला सचिव नरेंद्र तिवारी,ब्लॉक अध्यक्ष मुंगेली नेमीचंद भास्कर ने बताया कि रिटायरमेंट पश्चात कर्मचारी को यही जमा मैच्योरिटी राशि से कुछ राशि दी जाती है और कुछ राशि को रोककर उसी राशि से पेंशन दी जाती है। प्रान खातों में ज्यादा राशि जमा नही होने से कर्मचारियों के रिटायरमेंट पश्चात मिलने वाली CPS पेंशन राशि अत्यंत नगण्य है, जिससे कर्मचारियों का भविष्य अंधकारमय प्रतीत होता है,जिसका एकमात्र हल पुरानी पेंशन को लागू करना है,परन्तु जब तक पुरानी पेंशन लागू न हो अंशदायी पेंशन योजना में होने वाले सुधारो को तत्काल प्रदेश में लागू करें ताकि 14%राशि जमा होने से पहले से कुछ ज्यादा राशि जमा होगी।

सन्गठन के समस्त प्रांतीय,जिल एवं ब्लाक पदाधिकारियों ने मध्यप्रदेश का उदाहरण देते हुए इस 14% अंशदायी पेंशन कटौती आदेश को छ्ग में शीघ्र जारी करने की मांग की है।