जोड़ और घुटनों के प्रत्यारोपण विशेषज्ञ डॉ.अंकुर सिंघल के क्लीनिक का हुआ शुभारंभ,पूर्व लायनेस क्लब के अध्यक्ष के हांथो हुआ सम्पन्न

रायपुर/देश के प्रसिद्ध जोड़ एवं घुटना प्रत्यारोपण विशेषज्ञ डॉ. अंकुर सिंघल, एम.एस. (ऑर्थोपेडिक्स) के स्थानीय “लालगंगा बिजनेस पार्क (पचपेड़ी नाका)” में नवनिर्मित क्लीनिक का शुभारम्भ पूर्व लॉयनेस क्लब, रायपुर की अध्यक्षा श्रीमती विद्यावति गुप्ता के हाथों हुआ। इस अवसर पर अनेक गणमान्य नागरिक, वरिष्ठ व प्रसिद्ध चिकित्सक, प्रशासकीय अधिकारी एवं परिवारजन उपस्थित थे। क्लीनिक का उद्घाटन करते हुए 84 वर्षीय श्रीमती गुप्ता ने बताया कि उन्होंने स्वयं भी डॉ. सिंघल के हाथों हाल ही में अपने दोनों घुटनों का प्रत्यारोपण कराया है, जो पूर्णतः सफल रहा है।

उल्लेखनीय है कि अंकुर सिंघल ने औरंगाबाद मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस करने के बाद मुंबई के प्रसिद्ध नायर अस्पताल से एम.एस. (ऑर्थो) किया है। अहमदाबाद एवं इंदौर के विख्यात शेल्बी अस्पताल में उन्हें सुप्रसिद्ध हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. विक्रम शाह के साथ काम करने का मौका मिला।इसके अलावा उन्होंने फेलोशिप के माध्यम से यूके से जोड़ों की शल्य चिकित्सा व ऑर्थोस्कॉपी में विशेष दक्षता हासिल की है। पिछले तीन वर्षों से रायपुर के प्रसिद्ध रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल में वे कंसलटेंट व घुटनों के प्रत्यारोपण विशेषज्ञ सर्जन के रूप में कार्यरत हैं। उन्होंने अब तक करीब 5000 जोड़ों व घुटनों के प्रत्यारोपण के ऑपरेशन सफलतापूर्वक किये हैं। जोड़ों की सर्जरी के दौरान स्पेस सूट का इस्तेमाल करने वाले वे प्रदेश के एकमात्र सर्जन हैं। उनके द्वारा किये गये किसी भी ऐसे ऑपरेशन या प्रत्यारोपण में अब तक कोई भी संक्रमण की शिकायत नहीं पाई गई है जो उनकी कार्य कुशलता का प्रमाण है। वे बगैर स्टिचेस के और बहुत थोड़े एनीस्थिसिया द्वारा शल्यक्रिया करने के लिये जाने जाते हैं। इसके कारण ऑपरेशन के दौरान न्यूनतम खून स्राव होता है और शल्य क्रिया के पश्चात काफी कम दर्द से मरीजों को गुजरना पड़ता है। ऑपरेशन के बाद घर में फिजियोथेरेपी की भी सुविधा प्रदान की जाती है। इस क्लीनिक के खुलने से जोडों एवं हड्डी रोगों से संबंधित उच्च श्रेणी की चिकित्सा संबंधी परामर्श की सुविधा लोगों को उपलब्ध हो सकेगी।

उद्घघाटन समारोह में रामकृष्ण अस्पताल के निदेशक व प्रसिद्ध लेप्रोस्कोपिक सर्जन डॉ. संदीप दवे, अस्थि रोग विशेषज्ञ एंव विभाग प्रमुख डॉ. पंकज धाबलिया, संजीवनी अस्पताल के निदेशक डॉ. युसूफ मेमन, प्रसिद्ध न्यूरोलॉजिस्ट एवं दुर्ग के पूर्व मेयर डॉ. शिव तमेर, परिवार के सदस्य एवं मित्रगण उपस्थित थे।