नगर पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ पूर्व अध्यक्ष हुए लामबंद,अध्यक्ष के कार्यकाल में हुए भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए,जांच की मांग करते हुए सौपा ज्ञापन

बालोद(रोहित चंदेल)-डोंडीलोहारा नगर पंचायत अध्यक्ष लोकेश्वरी गोपी साहू और सीएमओ. मनीष गायकवाड़ के खिलाफ व्याप्त भ्रष्टाचार व तनिष्का कस्ट्रक्शन के खिलाफ गलत तरीके से किये गये कार्यवाही पर,उच्चस्तरीय जांच कर कार्यवाही करने की मांग को लेकर मंगलवार को पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष प्रेम भंसाली के नेतृत्व में नगर में रैली निकालकर एसडीएम को ज्ञापन सौपा। इस दौरान रैली में बड़ी सख्या में नागरिकों ने अध्यक्ष और सीएमओ के खिलाफ जमकर मुर्दाबाद के नारे लगाए।

तनिष्का कंस्ट्रक्शन की फार्म को नियम विरुद्ध तरीके से ब्लेक लिस्टेड कर दिया है जिसे तत्काल बहाल किया जाए

ज्ञापन में बताया गया कि नगर पंचायत अध्यक्ष लोकेश्वरी गोपी साहू के कार्यकाल में हुए निर्माण कार्यो में भारी अनियमितता हैं जिसके जांच समिति में नगर के भी 5व्यक्तियों को शामिल किया जावे और शिकायत कर्ता के सम्मुख कार्यों की जांच हो। मुख्यमंत्री स्वालंबन योजना के तहत आबंटित दुकानदारों के द्वारा बाहर के लोगों को किराए से देने,जिसके कारण सभी दुकाने बंद पड़ी रहती है इन पर कार्यवाही कर,दुकान नगर के बेरोजगारों को आबंटित किया जाए। परिषद की 9 फरवरी 2021को बैठक आयोजित किया गया था सही कार्य के बावजूद,कमीशन न देने के कारण से तनिष्का कंस्ट्रक्शन धमतरी की फर्म को नियम विरूद्ध तरिके से ब्लैक लिस्टेड कर दिया गया जिसे तत्काल बहाल किया जावे। प्रधानमंत्री आवास योजना की राशि का भुगतान समय पर न करने के कारण से गरीबो को तकलीफ उठानी पड़ रही है,तत्काल योजना की राशि का भुगतान कराया जावे।

नगर पंचायत अध्यक्ष द्वारा कमीशन मांगे जाने का ऑडियो हुआ था वायरल जिसकी जांच कर अध्यक्ष के खिलाफ की जाए कार्यवाही

नगर पंचायत अध्यक्ष द्वारा कमीशन मांगे जाने का आडियो वायरल हुआ है,जिसकी जांच करवा कर दोषी नगर पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ सूचना रिपोर्ट दर्ज करवाया जावे। मां दंतेश्वरी मंदिर के नीचे स्थित न.पं.के सामुदायिक भवनको नगर के बारह के व्यक्ति को देकर नगर के बेरोजगारों को उपेक्षित किया जा रहा है,भवन को तत्काल खाली करवाकर,बेरोजगारों को आबंटित किया जाये।देवार जाति के लोगों को जिनका उपयोग जनप्रतिनिधि मात्र वोट के लिये करते आये है. नगर में जगह आबंटित कर,आवास योजना का लाभ दिलाई जावे। नगर पंचायत कार्यालय में नगर पंचायत अध्यक्ष के पति गोपी साहू का हस्तक्षेप हो रहा यह कृत्य नगर पालिका अधिनियम के अंतर्गत अवैधानिक व दंडनीय है इस विषय पर कार्यवाही किया जावे। नगर पंचायत के कार्यों में पारदर्शिता नहीं है,यहाँ लगने वाले आरटी.आई.आवेदन पर आवेदन को निरस्त कर सूचना छिपाने का है यहां के अनियमितता भरे कार्यों को छिपाने की कोशिश किया जाता है,आर.टी.आई आवेदन पर प्रमाणित जानकारी दिया जावे। ज्ञापन सौपने के दौरान पूर्व नगर पंचायत प्रेम भंसाली,शंकर लाल,सूर्यकांत,आत्माराम,धनसिग, कैलाश,सुकालू,बुधारू,छत्री, कुंदन,सरजू,मायावती प्रजापति,गुलाब,विक्रम,सोनू,जोहद्री बाई,समीर,शिवराम,बिंदु बाई सहित बड़ी सख्या में महिलाएं व पुरुष शामिल थे।