STATE TODAY|बहुचर्चित धोखाधड़ी का मामला,फरार आरोपी के ऊपर 10 हजार रुपये का इनाम घोषित,SP ने किया इनाम की घोषणा,मामले के 5 अन्य आरोपी पूर्व में हो चुके है गिरफ्तार,जानिए क्या है पूरा मामला

मुंगेली/ जिले के जरहागांव थाना क्षेत्र में लाखों रुपयों के धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया था, जिसमे कार्यवाही करते हुए पुलिस ने मामले के फरार आरोपियों प्रियंका लहरे,शशि लहरे,शैलेन्द्र लहरे,नितेश लहरे,को मध्यप्रदेश के इंदौर से तथा अनुज गुप्ता को अम्बिकापुर से गिरफ्तार करने में सफलता पाई थी जिसके बाद से आरोपियों को रिमांड में जेल भेज दिया गया है वही मामले का एक आरोपी अतुल राठौर पुलिस को चकमा देकर फरार होने में कामयाब हो गया जिसकी पतासाजी लगातर की जा रही है लेकिन लंबे समय गुजर जाने के बाद भी उक्त आरोपी की गिरफ्तारी नही हो सकी जिसके बाद जिले के एसपी अरविंद कुजूर द्वारा मामले को गम्भीरता से लेते हुए फरार आरोपी की जल्द गिरफ्तारी किये जाने के मकसद से फरार आरोपी अतुल राठौर के ऊपर 10 हजार रुपये के इनाम की घोषणा की है,वही एसपी ने उक्त आरोपी का पता बताने वाले या उसे गिरफ्तार कराने वाले व्यक्ति को इनाम की राशि देकर पुरुस्कृत किया जाएगा जिसको लेकर जिले के एसपी के द्वारा अपना तथा कंट्रोल रूम सहित सम्बंधित थाने का नम्बर जारी किया है।

गौरतलब है कि जिले के थाना जरहागांव में 6 जनवरी 2021 को प्रार्थी पीयूष तिवारी के द्वारा मामला दर्ज कराया गया था कि प्रियंका लहरे, शशि लहरे, शैलेंद्र लहरे जो जरहागांव थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम खम्हरिया के निवासी तथा अतुल राठौर जो कि इंदौर मध्यप्रदेश का निवासी हैं के द्वारा धोखाधड़ी करते हुए प्रार्थी से 3 लाख रुपये नगद एवँ प्रार्थी के जानकार के दुकानदार से फर्नीचर ले लिए थे तथा प्रार्थी के द्वारा अपने रुपयों की मांग करने पर लगातार टालमटोल कर रहे थे जिसके बाद प्रार्थी पीयूष तिवारी के द्वारा आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया था, इसी तरह उक्त आरोपियों के द्वारा ही एक अन्य व्यक्ति अभिषेक गाजलवार को वन विभाग में नौकरी दिलाने का झांसा देकर उससे 1 लाख 20 हजार की राशि लेकर उसे फर्जी नियुक्ति पत्र देकर उसके साथ भी धोखाधड़ी की घटना को अंजाम दिया गया था, जिसके बाद धोखाधड़ी के शिकार हुए व्यक्ति अभिषेक गाजलवार द्वारा 27 फरवरी 2021 को थाना जरहागांव आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया था उक्त दोनों मामलों के दर्ज होते ही सभी आरोपी शातिर तरीके से फरार हो गए थे इस दौरान जरहागांव पुलिस के द्वारा आरोपियों के पतासाजी के दौरान अम्बिकापुर से आरोपियों के मदद करने वाले एक अन्य सहयोगी अनुज गुप्ता को 14 मार्च को गिरफ्तार किया था जो कि अभी न्यायिक हिरासत में मुंगेली जेल में बंद है, उपरोक्त आरोपियों के खिलाफ जरहागांव थाना के अलावा प्रदेश के विभिन्न थानों में बेरोजगारों को नौकरी लगाने के नाम पर पैसा लेने तथा ब्लैकमेलिंग से संबंधित विभिन्न मामले दर्ज है जिनपर उपरोक्त आरोपियों की गिरफ्तारी प्रदेश के विभिन्न थानों के द्वारा किया जाना है। आरोपियों के अपराध की लम्बी फेहरीस्त को देखते हुए तथा प्रदेश में बेरोजगारों को नौकरी लगाने के नाम पर ठगने के प्रदेश में दर्ज विभिन्न मामलों में गंभीरता दिखाते हुए एसपी मुुंगेली अरविन्द कुमार कुजूर द्वारा फरार आरोपी अतुल राठौर के गिरफ्तारी पर 10 हजार रूपये का ईनाम घोषित किया गया है। उपरोक्त मामले में शनिवार को मुंगेली के अपर सत्र न्यायधीश प्रबोध टोप्पो के न्यायालय में गिरफ्तार आरोपियों के दो मामलों की जमानत अर्जी पर सुनवाई हुई जिस पर माननीय न्यायालय द्वारा मामले कि गंभीरता को देखते हुए गिरफ्तार आरोपियों की जमानत अर्जी खरीज कर दी गई है। जमानत अर्जी पर शासन की ओर से लोक अभियोजक मनीष चौबे द्वारा पैरवी की गई।