मुख्यमंत्री के गृहक्षेत्र में सतनामी समाज के एक ही परिवार के पाँच लोगों की मौत से आक्रोशित भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू का पुतला फूंका

मुंगेली /भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के जिलाध्यक्ष शिवकुमार बंजारा ने कहा कि मुख्यमंत्री के गृहक्षेत्र में सतनामी समाज के एक ही परिवार के 5 लोगों की हत्या कर दिया जाता है इसपर दोषियों को पकड़कर सजा दिलाने के बजाए भूपेश बघेल सरकार इसे आत्महत्या साबित करने में लगी हुई है। यदि यह आत्महत्या भी है तो मुख्यमंत्री के क्षेत्र के एक परिवार को ऐसी क्या मजबूरी हो गई की उन्हें आत्महत्या करनी पड़ी। घटना के विश्लेषण से जनता के मन मे यह बात उठ रही है कि क्या पिता पुत्र एक ही रस्सी से लटककर फांसी लगा सकते हैं ? माँ और उनकी दो बेटियां तार में बंधी हुई तथा जली हुई अवस्था मे मिली क्या यह आत्महत्या है। इन सब संदेहों से यह हत्या का मामला दिखाई पड़ता है अतः किसी न्यायाधीश अथवा अन्य सक्षम एजेंसी से घटना की जाँच कराया जाना चाहिए।

जब से कांग्रेस की सरकार बनी है तभी से अपराध की संख्या भी बढ़ी है। प्रदेश में महिलाएं सुरक्षित नहीं है,बच्चों के लगातार अपहरण की घटनाएं घट रही है। इन सबके बावजूद कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है। इससे आक्रोशित भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा ने आक्रोश व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री व गृहमंत्री का पुतला दहन किया। इस अवसर पर मोर्चा के जिलाध्यक्ष शिवकुमार बंजारा, जिला भाजपा अध्यक्ष शैलेश पाठक, प्रदेश भाजपा मंत्री श्रीमती अंजू राजपूत,निश्चल ,नगर भाजपा मंडल अध्यक्ष राणाप्रताप सिंह , जिला भाजपा कार्यालय मंत्री कोटूमल दादवानी, नगर पालिका अध्यक्ष संतूलाल सोनकर , आकुम गेंदले , नितेश भारद्वाज, अनिल पात्रे , ताराचंद टंडन, सुनील पाठक,प्रदीप पांडेय,रामशरण यादव , जगमोहन मिरी , रामनारायण मिरी, गोवर्धन जांगड़े, दयालदास डाहिरे, नरेंद्र महिलांग , राकेश साहू, उमाशंकर साहू,अजीत बघेल,भागवत काठले,उमाशंकर बघेल, राजेश्वर टंडन, आसिफ खोखर, सुभांशु शुक्ला, सुरज कुमार,नागेश साहू,महावीर सिंह, रमेश बुनकर, आशीष मिश्रा, शेषनारायण मोहले, धनराज सिंह,हीरालाल‌ साहू, पारलेष महिलांग,श्रीमती अंजू राजपूत, श्रीमती अंजना दास ,शीलू साहू,दुर्गा साहू, श्रीमती सरस्वती सोनी, श्रीमती सरस्वती ठाकुर, अंजना जायसवाल, हेमा सोनी,माला गुप्ता, निशा सोनी, पायल नायक, अन्य भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।

पुतला जलाने में हुआ नाटकीय घटनाक्रम

महाराणा प्रताप चौक में भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा द्वारा मुख्यमंत्री व गृहमंत्री के पुतला दहन के अल्टीमेटम से पुलिस महकमा पूरी तरह चौकन्ना थी । पुलिस जवान चौक के सभी सड़कों पर वर्दी एवं सिविल ड्रेस में तैनात थे। इधर मोर्चा के लोग भी उनको छकाने की तैयारी कर चुके थे। पहले चौक पर अखबार का पुलिंदा जलाकर पुलिस को छकाया इसके कुछ देर बाद कार्यकर्ता जलता हुआ पुतला लेकर चौक पर पहुँचने में कामयाब रहे,जिसे पुलिस ने पानी डालकर बुझाया व जप्ती बनायी।