राशन दुकान संचालक के द्वारा राशन सामग्री में जमकर की जा रही धांधली,मृत व्यक्तियों को कागज में जीवित बताकर किया जा रहा है राशन जा उठाव,ग्रामीणों ने कलेक्टर से की शिकायत

मुंगेली/जिले के हरियरपुर पंचायत में राशन दुकान संचालित करने वाले नर्मदा स्व सहायता समूह के द्वारा जमकर धांधली की जा रही है जिसकी शिकायत ग्रामीणों ने कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर जिले के कलेक्टर से की गई है शिकायत करने पहुंचे ग्रामीणों ने बताया कि प्रदेश सरकार की महत्वकांक्षी योजना मुख्यमंत्री खाद्यान योजना में हमारे गांव हरियरपुर पंचायत में जमकर धांधली की जा रही है इनका आरोप है कि गांव में मृत व्यक्ति को कागजो में जीवित बताकर राशन दुकान संचालित कर रही समूह के द्वारा हर माह राशन उठाव किया जा रहा है जिसको लेकर ग्रामीणों में भारी रोष है।ग्राम पंचायत हरियरपुर के आश्रित गांव केशतरा से शिकायत लेकर पहुंचे ग्रामीण जग्गू यादव ने बताया कि मेरी माँ बहुराबाई/लूटन की मौत बीते वर्ष 3 मार्च 2020 को हो गयी है लेकिन राशन दुकान संचालक के द्वारा हर माह उनके कार्ड क्र 226474760591 से राशन का उठाव किया जा रहा है इसी तरह गांव के ही पेखन/चैतू राशनकार्ड क्र.226479515954
पंचबाई/रामू राशनकार्ड क्र.226471548489
ढोलूराम/धनसिंग राशनकार्ड क्र.226479998464
लगनी बाई/रामदास राशनकार्ड क्र.2264794660452
तीरथराम/समारू के राशनकार्ड क्र.226471535608
सहित अन्य लोगो के राशनकार्डो से संचालक के द्वारा हर माह राशन का उठाव किया जाता है वही इस बारे में पूछने पर गोलमोल जवाब देता है राशन दुकान संचालक के द्वारा जिस तरह से राशन सामग्री के उठाव को लेकर किये जा रहे धांधली से परेशान होकर आज ग्रामीणों ने जिले के कलेक्टर पी एस एल्मा से शिकायत किये हैं जिसके बाद कलेक्टर ने इस मामले की जांच कराकर जल्द कार्यवाही किये जाने का भरोषा दिलाया गया है
जिले में जिस तरह से प्रदेश सरकार की महत्वकांक्षी मुख्यमंत्री खाद्यान्न योजना पर संचालक के द्वारा जमकर धांधली किया जा रहा है यही वजह है कि शासन की जनहितकारी योजनाओं का लाभ आम ग्रामीणों को नही मिल पाता और वें इन योजनाओं का लाभ लेने से वंचित हो जाते हैं जिला प्रशासन को चाहिए के जो भी व्यक्तियों का ऐसे मामले संलिप्तता होती है ऐसे व्यक्तियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जानी चाहिए ताकि शासन के द्वारा चलाये जा रहे जनहितकारी योजनाओं का लाभ प्रदेश के अंतिम छोर के व्यक्तियों तक पहुंच सके