STATE TODAY|केशरवानी महिला समिति के द्वारा घर मे रहकर मनाया गया रामनवमी का पर्व,दीप जलाकर एवँ रंगोली सजाकर,हनुमान चालीसा का किया पाठ

मुंगेली/रघुकुल रीत सदा चली आई प्राण जाये पर वचन ना जाये,भगवान राम के जन्मदिन रामनवमी के पावन पर्व को केशरवानी महिला समिति की सदस्यों ने विश्वव्यापी कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुऐ अपने – अपने घरों में रहकर भक्ति भाव के साथ मनाया । मान्यता है कि त्रेतायुग में भगवान विष्णु ने राम और माता लक्ष्मी ने सीता का अवतार लिया था। जिस दिन श्रीहरि ने राजा दशरथ के यहां माता कौशल्या की कोख से जन्म लिया था, उस दिन चैत्र मास की शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि थी इसलिए इस तिथि को राम नवमी के रूप में मनाई जाती है । महिला सदस्यों ने घर – आंगन में रांगोली बनाकर पांच -पांच दीपक जलाकर हिंदू पांचांग के आधार पर शाम सवा सात बजे सदस्यों ने भगवान राम की प्रतिमा के सामने हनुमान चालीसा का पाठ करते हुऐ नन्हे – मुन्ने बच्चों को राम – दरबार की झांकी राम, सीता, लक्ष्मण, वीर हनुमान बनाकर इस पल को संवारते हुऐ डिजिटल वर्चुअल वर्ल्ड के माध्यम से एक-दूसरे से बांटा और रामनवमी की बधाईयां दी ।