डीजीपी के निर्देश का इस जिले में हुआ शतप्रतिशत पालन,SP के नेतृत्व में 9 माह में 9 राज्यों से 100 बच्चे बरामद

छत्तीसगढ़

डीजीपी के निर्देश का इस जिले में हुआ शतप्रतिशत पालन,SP के नेतृत्व में 9 माह में 9 राज्यों से 100 बच्चे बरामद

रायपुर/डीजीपी के निर्देश पर प्रदेश भर में चलाए जा रहे ऑपरेशन मुस्कान में कोरबा पुलिस ने बाजी मारते हुए 100 गुम बच्चों को बरामद किया है,औऱ यह सफलता मात्र 9 माह में ही मिली हैं, जिसके लिए कोरबा पुलिस ने छतीसगढ़ के अलावा 9 राज्यो में अभियान चला कर गुमशुदा बच्चों को सकुशल बरामद किया हैं, जिसका श्रेय कोरबा पुलीस कप्तान अभिषेक मीणा और उनकी टीम को जाता हैं, जिन्होंने 9 माह पूर्व मार्च माह में कोरबा पुलिस अधीक्षक का कार्यभार सम्हालने के पश्चात कोरोना के चलते लॉक डाउन होने के बाद भी विषम परिस्थितियों में लगातार मेहनत कर और अपनी टीम का मनोबल बढ़ाते हुए उन्हें स्वयं के द्वारा मार्गदर्शन देते हुए छतीसगढ़ के अलावा 9 राज्यो में अभियान चला कर 100 परिवारों को उनकी खुशियां लौटा कर उनके चेहरे पर मुस्कान वापस लाई। गौरतलब हैं कि मार्च माह में लाक डाउन की घोषणा होने के बाद अभिषेक मीणा ने कोरबा जिले की कप्तानी सम्हाली,शुरुआती दौर होने और कटघोरा में लगातार जमातियों के पॉजिटिव पाए जाने पर इसकी गम्भीरता को समझा लोगो को घरों में रहने की अपील करने में पूरा पुलिस अमला लगा रहा।लगातार लॉक डाउन के पालन करवाने में उलझे होने के कारण पुलिस के रूटीन काम भी बाधित हो रहें थे इसी दौरान डीजीपी ने अत्यंत आवश्यक कार्य होने पर ही राज्य से बाहर जाने और इसके लिए पहले परमीशन लेने का आदेश जारी कर दिया, जिस से पुलिस का ऑपरेशन मुस्कान कुछ समय के लिए बाधित रहा,पर जब धीरे धीरे स्थितिया सुधरी और आवागमन सामान्य हुआ तब कोरबा पुलिस ने कमर कसते हुए आपरेशन मुस्कान और ऑपरेशन संवेदना में तेजी लाई और गुमशुदा बच्चों की पता तलाश करना शुरू किया। इस कड़ी में पता चला कि इस वर्ष 17 बालक और 76 बालिकाएं कोरबा जिले से गुम हुई हैं, तब कप्तान अभिषेक मीणा ने प्लानिंग कर एडिशनल एसपी कीर्तन राठौर को इसका नोडल अधिकारी बनाया और उन्हें निर्देशित किया कि लापता बच्चो के परिजनों से व्यक्तिगत तौर पर रूबरू हो कर उनसे बच्चे के सम्बंध में सारी जानकारियां एकत्रित करें।एसपी के निर्देशानुसार एडीशनल एसपी कीर्तन राठौर ने लापता बच्चो को खोजने के लिए थाना वार समीक्षा की और लापता बच्चो के परिजनों को बुला कर उनसे स्वयं बात चीत कर बच्चे के सम्बंध में जरूरी जानकारियां एकत्रित की,जिसके बाद बच्चे को बरामद करने के लिए थाना स्तर पर टीम गठित की और लापता बच्चो की तलाश शुरू की।पुलीस के अभियान में छत्तीसगढ़ समेत विभिन्न राज्यो से इस वर्ष गुम 17 बालको में से सभी बरामद हो गए,और 76 गुम बालिकाओं में से 72 बालिकाएं बरामद हुईं।इस वर्ष के अतिरिक्त पिछले वर्ष गुम हुए 5 बालक और 6 बालिकाओ को भी पुलिस ने अपने अभियान में खोज निकाला हैं। इस तरह से बच्चो को खोजने का शतक कोरबा पुलिस ने लगाया। 9 माह में 9 राज्यों में चला अभियान:- एसपी अभिषेक मीणा के 9 माह पूर्व पदभार ग्रहण करने के बाद कोरबा पुलिस ने छतीसगढ़ के अलावा 9 राज्यो में अभियान चलाया जिसमे छतीसगढ़ से 80 बच्चें और 9 राज्यो से 20 बच्चों को मिला कर कुल 100 बच्चों को रिकवर किया गया हैं जो कि निम्नानुसार हैं:- राज्य बरामद बच्चें मध्यप्रदेश- 6, हरियाणा- 2, गुजरात- 2, जम्मू-कश्मीर- 2, उड़ीसा- 1, पश्चिम बंगाल- 2, राजस्थान- 2, आंध्रप्रदेश- 2, चंडीगढ़- 1 ।