प्रदेश भाजयुमो में हुआ नियुक्ति घोटाला,जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं को भेजा हाशिये में,धनकुबेरों को बेचा पद: विकास तिवारी

रायपुर/छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने प्रदेश भाजयुमो में कोई नियुक्ति घोटाले के बाद भाजपा आलाकमान के द्वारा नियुक्त किये गये उम्रदराज पदाधिकारियों के बर्थ सर्टिफिकेट और हाई स्कूल के मार्कशीट को तलब करने पर तंज कसते हुए कहा कि जहां एक और भाजपा यह दावा करती है कि उनकी पार्टी कैंडल बेस पार्टी है और यहां वंशवाद और धन कुबेरो के लिये कोई जगह है जबकि इसके उलट प्रदेश भाजयुमो में कोई नियुक्तियों पर कमीशनखोरी हुई है जिससे हताश और परेशान होकर भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने आत्महत्या तक की धमकी दे डाली और हद तो तब हो गई जब उम्रदराज नेताओं को कमीशन लेकर पद दे दिया गया और भाजयुमो के कर्मठ कार्यकर्ता हाशिये पर चले गये।

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि भाजयुमो पदाधिकारियों की बर्थ सर्टिफिकेट और हाईस्कूल के मार्कसीट को आलाकमान ने तलब किया है यह अपने आप में एक हास्यास्पद बात है की भाजपा के आला नेताओं को अपने ही नियुक्त किये गये कार्यकर्ताओं की उम्र और शिक्षा पर भरोसा नहीं रह गया इस कारण वह अपने युवा नेताओं की जन्मकुंडली खंगाले में लगे हैं अमूमन सरकारी विभाग में नियुक्ति घोटाला सुनने में आता था लेकिन प्रदेश भाजयुमो में हुवे नियुक्ति घोटाले ने प्रदेश भाजपा संगठन में हुवे कमीशनखोरी और खरीद-फरोख्त के उजागर होने से सभी अचंभित है,जिससे भाजपा की साख में बट्टा लगा है। सोशल मीडिया में भाजयुमो के युवा कार्यकर्ता खुलेआम अपने शीर्ष नेतृत्व को भ्रष्टाचारी और खरीद-फरोख्त करने वाला तक कह रहे हैं भाजपा नेताओं का कहना है कि जिन्होंने संघर्ष किया उन्हें पद नहीं दिया गया और जिन्हें कोई भाजपा में जानता नहीं उन्हें पैसों के बल पर पद दिया गया है।

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि प्रदेश भाजपा में गुटबाजी और पद बेचने के लिये कमीशनखोरी अब खुलकर सामने आने लगी है पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह का धड़ा आज भी प्रदेश भाजपा को अपने जेब में लेकर चल रहा है और अपने मन मुताबिक नियुक्तियां करवा रहा है जिसके कारण भाजपा के कर्मठ कार्यकर्ता हाशिये पर चले गये हैं और कैडर बेस्ट पार्टी होने का दम भरने वाली भाजपा की पोल पट्टी खुलने लगी है पूर्व भाजपा सरकार में नियुक्ति घोटाला करने वाले भाजपा के आला नेता अब प्रदेश भाजपा के नियुक्ति में भी घोटाला कर रहे हैं और आलाकमान द्वारा नियुक्त किये गये भाजयुमो नेताओं की बर्थ सर्टिफिकेट और हाईस्कूल की मार्कशीट को मंगवाना यह साबित करता है कि प्रदेश भाजपा में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है गुटबाजी अब सतही स्तर पर आ चुकी है भाजपा के प्रदेश इकाई में धनकुबेर ओ का वर्चस्व है जिसके कारण मूल कार्यकर्ता मानसिक अवसाद से ग्रसित हो रहे हैं और आत्महत्या करने को भी मजबूर हो रहे हैं।