STATE TODAY|बेमेतरा जिले के विभिन्न मार्गो में 1 जून से बस सेवाएं प्रारंभ होगी,बस संचालक कर रहे हैं किराया बढ़ाने की मांग

संजू जैन
बेमेतरा :कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के दूसरे लहर के बाद स्थिति में सुधार आने से प्रशासन द्वारा धीरे- धीरे विभिन्न क्षेत्रों को अनलॉक किया गया है। इसके साथ ही यात्री वाहन संचालकों ने अब बेमेतरा जिले के विभिन्न मार्गो में 1 जून से नियमित रूप से यात्री बस प्रारंभ करने की बात कही है । संभावना है कि जिले के विभिन्न प्रमुख मार्गों में 1 जून से यात्री बस सेवा प्रारंभ हो जाएगी।

कोरोनावायरस संक्रमण महामारी के चलते बीते करीब डेढ़ महीने से पूरे जिले की सारी व्यवस्था ठप पड़ गई थी । यद्यपि इस दौरान यात्री बस का संचालन बंद नहीं हुआ था,किंतु यात्रियों की संख्या पर्याप्त नहीं होने कारण यात्री बस सेवा भी बंद हो गई थी। सभी यात्री बसों के चक्के थम गए थे।

किंतु बीते दिनों से कोरोनावायरस के मरीजों की संख्या में जिले में धीरे-धीरे न केवल कमी आयी है बल्कि स्थितियों में सुधार भी उल्लेखनीय रूप से होने लगा है। जिसके कारण से प्रशासन के द्वारा जनहित को ध्यान में रखते हुए व यात्रियों को परेशानी से निजात दिलाते हुए विभिन्न क्षेत्रों को धीरे-धीरे अनलॉक किया जा रहा है । इस बात को ध्यान रखते हुए यात्री बस के संचालकों ने भी अपनी बस को प्रारंभ करने की मंशा बना ली है , और इसी के चलते बस संचालकों ने 1 जून से जिले के विभिन्न मार्गो में यात्री बस को नियमित रूप से प्रारंभ करने की मंशा व्यक्त की है ।

इस संबंध में बेमेतरा के जय अंबे बस सर्विस के संचालक आनंद साहू एवं राम गोपाल साहू ने बताया कि कोरोनावायरस की स्थिति में लगातार सुधार आने से अब विशेष रूप से बेमेतरा से थान खमरिया लोहारा के तरफ वाहन चलेगी इसके अलावा बेमेतरा से दुर्ग, बेमेतरा से कवर्धा से रायपुर, बेमेतरा से मुंगेली, भाटापारा मार्ग सहित बालसमुंद मार्ग में भी यात्री बस सेवा प्रारंभ होने की संभावना है।

यात्री बस किराया बढ़ाने की भी मांग :

जहां यात्रियों को सुविधा देने के लिए बस संचालक यात्री बस का संचालन प्रारंभ करने का मंशा बना रहे हैं,वहीं दूसरी तरफ लगातार बढ़ते हुए महंगाई एवं डीजल की कीमत में बढ़ोतरी होने के कारण यात्री बस किराए में भी बढ़ोतरी की मांग बस यूनियन संचालकों के द्वारा किया जा चुका है इस संबंध में जानकारी के अनुसार बीते जुलाई 2018 में बसों का किराया में बढ़ोतरी हुई थी। उस समय डीजल के कीमत 67 रुपए थी । किंतु अब स्थिति में भारी परिवर्तन हो चुका है जहां एक ओर यात्री बस में उपयोग होने वाले डीजल की कीमत लगभग 92 रुपए 25 पैसे है पेट्रोल के कीमत के समकक्ष पहुंच चुकी है । वहीं दूसरी ओर यात्री बस वालों के पास केवल बस संचालन करने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं है । इसलिए बस संचालकों का शासन के पास वर्तमान बस किराया में 40 परसेंट की बढ़ोतरी करने की मांग की है , किंतु अभी तक इस संबंध में अधिकृत रूप से किसी भी तरह का कोई निर्णय शासन के द्वारा नहीं लिया गया है, जानकारी के अनुसार इस संबंध में बस ऑनर्स फेडरेशन आफ छत्तीसगढ़ ने यात्री किराया बढ़ाने की मांग परिवहन विभाग से की है।
इस के अलावा बस आनर्स फेडरेशन ऑफ छत्तीसगढ़ ने यात्री किराया बढ़ाने के साथ ही बीते मार्च 2020 से दिसम्बर 2021तक यात्री बस एवं स्कूल बसों में पूरी तरह से शासन के कर में छूट देने की मांग भी की है ।साथ ही अग्रिम कर जमा की शर्तें को विलोपित करते हुए नान यूज़ की अवधि को समाप्त करने की भी मांग की है।