STATE TODAY|बेमेतरा जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या 15 हजार से पार,जिले में अबतक 1 लाख 5 हजार लोगों ने लगवाया वैक्सीन

संजु जैन

बेमेतरा:अब तक जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या 15000 से भी ऊपर जा पहुंची है तथा जिस रफ्तार में संक्रमण ने गति पकड़ी है तो आने वाले दिनों में यह आंकड़ा और भी तेजी से बढ़ने की बात से इंकार नहीं किया जा सकता है। हालांकि राहत की बात यह कही जा सकती है कि 11000 से भी ज्यादा संक्रमित मरीज स्वास्थ्य लाभ लेकर अपने घरों में वापस जा चुकेहैं,जबकि 204 संक्रमित मरीजों की मृत्यु भी हो चुकी है। वहीं इन सब के बीच सरकार द्वारा जो वैक्सीन लगाने का क्रम जारी है उसमें 105000 से भी ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है तथा यह क्रम निरंतर जारी है। हालांकि 18 वर्ष से अधिक उम्र के युवाओं को भी वैक्सीन एक मई से लगने की बात तो कही जा रही है,किंतु किसी तरह तस्वीर स्पष्ट नहीं होने केचलते अब तक स्पष्ट रूप से यह नहीं कहा जा सकता है कि 1 मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा सकेगा। हालांकि एक-दो दिनों में स्थिति स्पष्ट होने की बात कही जा रही है। बहरहाल उपरोक्त आंकड़ों के चलते बीते महीने भर से जो कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने जो कहर बरपाया है वह निसंदेह आंकड़े न केवल डरावने कह जा सकते हैं। साथ ही उन लोगों को इस बात की नसीहत देने के लिए पर्याप्त भी है कि लोग सुरक्षित अपने घरों पर रहे और शासन के दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन भी करें। आम लोग यदि अपनी महती जिम्मेदारी बखूबी से निभाते हैं तो निश्चित रूप से करोना कि इस वैश्विक महामारी की जंग में आम लोगों की ही जीत होगी।

बेमेतरा जिले में मिले 243 नए मरीज

बेमेतरा जिले में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों के मिलने का आंकड़ा बढ़ रहा है। कुछ दिनों पहले जहां लगातार तीन सौ से ज्यादा मरीज मिल रहे थे, वहीं थोड़ी सी राहत मिली है क्योंकि अभी 200 के आसपास मरीज मिल रहे हैं। हालांकि ये आंकड़े अभी भी डराने वाले हैं, क्योंकि जिले की जनसंख्या के हिसाब से यहां काफी ज्यादा संख्या में मरीज मिल रहे हैं। गुरुवार को 243 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। वहीं, पांच मरीजों की मौत हो गई है। जिले में अब एक्टीव मरीजों की संख्या 3313 पहुंच गई है।

देवरबीजा में कोरोना जांच बंद

देवरबीजा एवं देवकर नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में रोज नही हो रहा है कोरोना जांच देवरबीजा नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बहुत से गांवों के ग्रामीण पहुंच ते है लेकिन हास्पीटल में ऊपर.से ही कोरोना जांच किट नही आने के कारण जांच बंद है
डाक्टर द्वारा अपने उच्च अधिकारियों को जांच किट के संबंध में जानकारी दिया गया है लेकिन उपलब्ध नही हो पा रहा है