कुमारी देवी चौबे शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय 9वीं और 11 वीं के बच्चों का एडमिशन फीस को अभी तक नही किया गया वापस,इस बारे में शिक्षा विभाग के अधिकारी का क्या कहना है जानिए

संजु जैन बेमेतरा/बेमेतरा जिले के बेरला ब्लाक के अंतर्गत देवरबीजा में संचालित कुमारी देवी चौबे शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में एक चौकाने वाला मामला सामने आया है जहां कोरोना काल मे बच्चों से जो एडमिशन फीस लिया गया है उसे अब तक वापस ही नहीं किया गया है,छत्तीसगढ़ शासन का स्पष्ट निर्देश था कि कोरोना काल के कारण बच्चों का फीस नहीं लेना था और यदि ले लिए गया हो तो उसे तत्काल छात्रों को वापस भी करना था ।.लेकिन कुमारी देवी चौबे शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के 9 वीं क्लास के करीब 100 बच्चे एवं 11 वीं क्लास के करीब100 दोनों क्लास मिलाकर 2 सौ बच्चों के लगभग 2 लाख रूपये वापस करना है जो विगत पांच माह से वापस नही किया गया है कुछ छात्रों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि प्राचार्य के पास जब पैसा के लिए जाते है तो अभी पैसा नही है का बहाना बनाकर छात्रों को वापस भेज दिया जाता है कायदे से फीस का राशि एक नियत एकाउंट में होनी चाहिए लेकिन उक्त विद्यालय में शिक्षकों के पास राशि हुई है जो अवैधानिक है,

देवरबीजा हाईस्कुल में नही हुआ है समिति गठन
देवरबीजा कुमारी देवी चौबे शासकीय उच्च तर माध्यमिक विद्यालय में अभी तक जनभागीदारी समिति का भी गठन नही हुआ है बगैर जनभागीदारी समिति का चल रहा है विद्यालय

जिला शिक्षा अधिकारी ने कहा कुछ नही बोलूंगी

हमारे बेमेतरा देवरबीजा प्रतिनिधि द्वारा जब इस घटना के संबंध में मधुलिका तिवारी जिला शिक्षा अधिकारी बेमेतरा से फोन में जानकारी ली गई तो उक्त अधिकारी द्वारा काफी रूखा ब्यवहार किया गया उनके द्वारा कहा गया की मैं वर्सन नही दूंगी,तुमको जो छापना है छाप लो जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया ,उच्च पद पर बैठे हुए अधिकारी का इस तरह से ब्यवहार काफी अशोभनीय है