STATE TODAY|बलरामपुर में ग्रामीणों ने पुलिसवालों पर किया हमला,कांस्टेबल का सिर फटा,लहूलुहान हुए पुलिसकर्मी…जानिए क्या है पूरा मामला…

बलरामपुर/छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले से ग्रामीणों द्वारा पुलिस पर हमला करने का मामला सामने आया है। जानकारी मिली है कि ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों को दौड़ा-दौड़ा कर लाठियों से पीटा। किसी तरह पुलिसवालों ने भागकर अपनी जान बचाई। हमले में एक कांस्टेबल गंभीर रूप से घायल हुआ है। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिसकर्मी शादी में DJ बजाए जाने की सूचना पर पहुंचे थे। पुलिसे ने इस मामले में 3 महिलाओं सहित 16 लोगों को गिरफ्तार किया है। मामला बलरामपुर-रामानुजगंज के थाना राजपुर का है।

नाच गाना कर लॉकडाउन का कर रहे थे उलघंन

जानकारी के मुताबिक गस्त के दौरान पुलिस को सूचना मिली कि नवकी बथान पारा के सरजू नगेसिया के घर में बिना अनुमति के घर में शादी कार्यक्रम चल रहा है तथा डी.जे. कॉफी तेज साउण्ड में बज रहा है और बहुत अधिक संख्या में लोग बिना मास्क लगाये लॉकडाउन का उलघंन कर नाच गाना कर रहे है।

पुलिसवालों को दी जान से मारने की धमकी

सूचना पर हमराह स्टाफ के भोर करीब 4 बजे पहुँचकर वहाँ पर नाच रहे ग्रामीणों को समझाईस दे रहे थे कि उसी समय वहां पर उपस्थित ग्रामीणों ने आक्रोशित हो गये कि कहने लगे की शादी हो रहा है, डी. जे.क्यों बंद कराकर रहो हो कहते हुये सभी उपस्थित ग्रामीण एक राय होकर पुलिस को मां बहन की अश्लील गंदी-गंदी गाली देते हुये जान से मारने की धमकी देते हुये उत्तेजित होकर आये।

हमले में कांस्टेबल का सिर फटा

एक पुलिसकर्मी ने बताया कि गोविंद ने बांस डण्डा से आरक्षक परमेश्वर दुबे के सिर में पिछे से डण्डा से प्राण घातक हमला किया तथा करण हाथ मुक्का से मारपीट पर परमेश्वर दुबे को एवं मुझे भी किया हैं जिससे आरक्षक परमेश्वर दुबे के सिर फट कर कॉफी खून निकल रहा है वंहा पर उपस्थित अन्य 13-14 अक्रोशित ग्रामीणों ने हम लोगों को मां बहन की अश्लील गंदी-गंदी गाली देते हुये जान से मारने की धमकी देते पत्थर से भी मारपीट के लिए हम लोगों का दौडाये है तथा मुझे हाथ मुक्का व पत्थर से ग्रामीणों ने मारपीट किये है। एक पुलिसकर्मी ने बताया कि जिससे मेरे पीठ व शरीर में चोट लगा है जो हमारे साथ में ड्यूटी पर लगे थे विजय सिंह, एवं चालक सैनिक सुशील यादव एवं उपस्थित लोग घटना को घटित होते देखे सुने व बीच बचाव किये है। जो हम लोग किसी तरह से जान बचाकर गाड़ी में बैठ कर भागे है।

इन्हें किया गिरफ्तार

बाद में पुलिस टीम के साथ रवाना होकर आरोपीगण को घेराबंदी कर गोविन्द नारायण, शिवराम, करण कुमार श्रीराम, देवेन्द, शिनोत, रामजन्म, कृष्णा, प्रदीप, पप्पू, रोपन हुक्म पोर्ते, आत्मा रामभेदो,रमकलिया,मुन्नी के विरूद्ध अपराध सबूत पाये जाने से आरोपीगण को 25 मई को गिरफ्तार किया गया है।