अंडरवर्ल्ड डॉन के नाम से जारी हो गया डाकटिकट,मामला सामने आने के बाद चीफ पोस्ट मास्टर दे रहे है सफाई

उत्तरप्रदेश

कानपुर: अंतरराष्ट्रीय माफिया छोटा राजन और गैंगवार में मारे गए मुन्ना बजरंगी की तस्वीर वाली डाक टिकट जारी होने के बाद पोस्ट ऑफिस की बड़ी लापरवाही सामने आ रही है। इस मामले के तूल पकड़ते ही पोस्ट मास्टर ने मामले की जानकारी न होने की बात कही लेकिन यह साफ है कि विभाग ने इस मामले में कितनी बड़ी लापरवाही बरती है

चीफ पोस्ट मास्टर हिमांशु मिश्रा ने इस मामले में कहा है कि- माय स्टांप योजना में यह सुविधा दी जाती है कि व्यक्ति अपने या अपने परिजनों का डाक टिकट बना सके। पर इसके लिए आईडी के साथ फाॅर्म जमा करना होता है। विभाग के कर्मचारियों को पहले वेरिफाई करना था।

आपको बता दें कि इस योजना के तहत जीवित व्यक्तियों के ही डाक टिकट जारी किए जा सकते हैं। पर विभाग द्वारा 2018 में मारे गए मुन्ना बजरंगी का भी डाक टिकट जारी कर दिया गया है। माई स्टांप डाक योजना के तहत अपना डाक टिकट बनवाने के लिए शख्स को खुद ऑफिस आना पड़ता है। यहां वेबकैम के जरिए फोटो खींची जाती है। आवश्यक डॉक्युमेंट देने के बाद डाक टिकट जारी किया जाता है। पर यहां दोनों डाॅन के टिकट कैसे बने, यह जांच का विषय है।