पुराना नौकर निकला मास्टरमाइंड,दोस्त के साथ मिलकर दिया था लूट की घटना को अंजाम,ग्रीन पार्क कॉलोनी में हुए लूट के मामले पर पुलिस को मिली बड़ी सफलता,मामले का किया खुलासा

छत्तीसगढ़

पुराना नौकर निकला मास्टरमाइंड,दोस्त के साथ मिलकर दिया था लूट की घटना को अंजाम,ग्रीन पार्क कॉलोनी में हुए लूट के मामले पर पुलिस को मिली बड़ी सफलता,मामले का किया खुलासा

बिलासपुर/छत्तीसगढ़ की न्यायधानी बिलासपुर में विगत 15 दिसम्बर को ग्रीन पार्क जैसे पॉश कॉलोनी में हुए लूट की घटना को अंजाम देने वाले 2 आरोपी बिलासपुर पुलिस के हत्थे चढ़ गए है..बिलासा गुड़ी में लूट का खुलासा करते हुए बिलासपुर पुलिस अधीक्षक प्रशांत कुमार अग्रवाल ने बताया कि.. पिछले दिनों ग्रीन पार्क स्थित मनोहर आडवाणी के घर में घुसकर महिला को घायल कर लूट करने वाले आरोपी को पुलिस की 8 टीम ने लगातार 10 दिनों की मेहनत के बाद पकड़ने में सफलता हासिल की है.. लूट की घटना को अंजाम देने वाला कोई और नहीं बल्कि पुराना नौकर है.. दरअसल आरोपी रवि भोसले पुराना हाईकोर्ट के पीछे अटल आवास में निवासरत है और कुछ सालों पहले आर आर कलेक्शन में काम करता था काम के दौरान मालिकों द्वारा भेजे जाने पर आरोपी ग्रीन पार्क स्थित घर मे आना जाना करता था जिससे घर की हलचल का उसे अंदाजा था..1 साल पहले कुछ विवाद की वजह से रवि ने काम छोड़ दिया था..लेकिन कुछ दिनों पहले अपने पुराने मित्र दीपक यादव के साथ मिलकर अपने मालिक के घर की रेकी कर लूट की योजना बनाई और 15 दिसंबर को शाम करीब 7:00 बजे मनोहर आडवाणी के घर में घुसकर महिला को घायल कर लूट की घटना को अंजाम दिया

न्यायधानी में लगातार हो रहे अपराधों के बीच जैसा ही लूट की घटना लोगों को पता चली तो शहर में दहशत फैल गया था पुलिस ने भी इसे चुनौती के रूप में स्वीकार कर 8 टीमें बनाकर लगातार छानबीन कर रही थी इस दौरान शहर भर के अपराधों में संलिप्त रहने वाले लोगों को उठाकर पूछताछ भी की गई लेकिन आरोपियों का कहीं पता नहीं चल पा रहा था इस दौरान पुलिस ने आडवाणी के घर काम करने वाले पुराने नौकरों की लिस्ट तैयार की और गहनता से सभी से पूछता करना शुरू किया इस दौरान रवि भोंसले से भी कड़ाई से पूछताछ की गई जिस पर रवि ने अपने दोस्त के साथ मिलकर अपराध करना कबूल कर लिया लुटे हुए नगदी को दोनों आरोपियों ने आपस में बैठकर खर्च कर दिए थे लेकिन रुपए के अलावा सभी सामान को बरामद कर लिया गया है टीम द्वारा की गई कड़ी मेहनत पर बिलासपुर आईजी ने 20 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की है वहीं छत्तीसगढ़ टीम को ₹50000 देने की घोषणा की है..